निखिल यादव ने की जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली से पीएचडी

Nikhil Yadav did PhD from Jawaharlal Nehru University, Delhi

नारनौल तहसील के छोटे से गांव ढाणी चुड़ैली (फैज़ाबाद) के मूल निवासी निखिल यादव ने देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली से डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी (पीएचडी) डिग्री प्राप्त की है । निखिल ने बताया की 2020 में उनका विश्वविद्यालय के विज्ञान नीति अध्ययन केंद्र जो की स्कूल ऑफ़ सोशल साइंस के अंतर्गत आता है वहां दाखिला हुआ था।

उन्होने पिछले 3 साल “रिवॉर्ड सिस्टम एंड अकादमिक परफॉरमेंस इन इंडिया: अ सोसिओ-हिस्टोरिकल स्टडी ऑफ़ सेलेक्ट साइंटिफिक अवार्ड्स” विषय पर शोध किया जो सफलतापूर्वक जून 2024 में पूर्ण हुआ। शोध कार्य के दौरान निखिल ने देश के अनेको बड़े वैज्ञानिकों से संपर्क भी किया। निखिल यादव ने पिछले साल स्वामी विवेकानंद पर पुस्तक भी लिखी थी “अमृतकाल में स्वामी विवेकानंद की प्रासंगिकता’।

निखिल यादव कपड़ा मंत्रालय की हिंदी सलाहकार समिति के सदस्य नामित किए गए थे। निखिल का बचपन गांव में ही बीता। वे पढ़ाई के लिए पहले नारनौल और बाद में पिताजी की सरकारी नौकरी के कारण पंचकूला चले गए थे। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड कॉमर्स से स्नातक और दिल्ली विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग से परास्नातक की। निखिल यादव ने मार्च महीने में दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पीएचडी जमा करवाई हैं। निखिल पिछले 8 वर्षों से विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी से जुड़े हुए है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button