नजफगढ़ से ढांसा बस स्टैंड तक विस्तारित मेट्रो के ग्रे लाइन कॉरिडोर का उद्घाटन

आसपास के करीब 50 गांवों के लोगों को दिल्ली आने के लिए अब फिरनी चौक क्रॉस कर दिल्ली गेट नहीं आना पड़ेगा, चौक पर लगने वाले जाम से भी मिलेगी मुक्ति- अरविंद केजरीवाल ढांसा मेट्रो स्टेशन के शुरू होने से हरियाणा के झझर जिले से दिल्ली आने वाले लोगों को भी मिलेगा फायदा- अरविंद केजरीवाल हमने 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान वादा किया था और सरकार बनने के तुरंत बाद ढांसा बस स्टैंड के मेट्रो स्ट्रेच को मंजूरी दी थी- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नजफगढ़ से ढांसा बस स्टैंड तक विस्तार की गई दिल्ली मेट्रो के ग्रे लाइन कॉरिडोर का उद्घाटन किया। ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन के खुलने से बाहरी दिल्ली के लाखों लोगों को दिल्ली आने में सहूलियत मिलेगी। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आसपास के करीब 50 गांवों के लोगों को दिल्ली आने के लिए अब फिरनी चौक क्रॉस कर दिल्ली गेट नहीं आना पड़ेगा। अब वे ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन से मेट्रो ले सकेंगे। इससे फिरनी चौक पर लगने वाले जाम से भी मुक्ति मिल जाएगी। इसके अलावा, हरियाणा के झझर जिले से दिल्ली आने वाले लोगों को भी इसका फायदा मिलेगा। सीएम ने कहा कि हमने 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान वादा किया था और सरकार बनने के तुरंत बाद ढांसा बस स्टैंड के मेट्रो स्ट्रेच को मंजूरी दी थी। वहीं, पहले लोग दिल्ली आने के लिए नजफगढ़ से मेट्रो लेते थे, लेकिन अब ढांसा बस स्टैंड से ले सकेंगे और द्वारका से ब्ल्यू लाइन मेट्रो लेकर नोएडा और वैशाली तक सफर कर सकेंगे।

मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिल्ली गेट (नजफगढ़) से ढांसा बस स्टैंड तक दिल्ली मेट्रो के विस्तारित ग्रे लाइन कॉरिडोर के उद्घाटन अवसर पर कहा कि आज बाहरी दिल्ली के लिए खासकर नजफगढ़ क्षेत्र के लोगों के लिए बेहद खुशी का पल है। अभी तक दिल्ली मेट्रो का यह जो रूट था, वह दिल्ली गेट तक जाकर खत्म हो जाती थी। आसपास के लगभग 50 ऐसे गांव हैं, जहां से रोज लोग दिल्ली काम करने के लिए आते हैं। उन लोगों को नजफगढ़ में जो फिरनी चौक है, वह क्रॉस करके दिल्ली गेट आना पड़ता था। उसकी वजह से फिरनी चौक के ऊपर बहुत बुरा ट्रैफिक जाम लगता था। अब यह ढांसा बस स्टैंड बन जाने की वजह से लोगों को यह चौक क्रॉस करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। हालांकि यह रूट सवा किलोमीटर का है, लेकिन इसका इतना बड़ा प्रभाव पड़ेगा कि लोगों को अब चौक क्रॉस करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जो लोग रोज दिल्ली आते हैं, वे अब ढांसा बस स्टैंड से ही मेट्रो ले सकते हैं और दिल्ली आ सकते हैं। इस मेट्रो स्टेशन के शुरू होने से लगभग 50 गांव ऐसे हैं, जहां रह रहे लोगों को इसका फायदा होगा। इसके अलावा, बॉर्डर पर हरियाणा के झज्जर जिले से भी बहुत सारे लोग दिल्ली नौकरी करने के लिए प्रतिदिन आते हैं, उन लोगों को भी इससे बेहद मदद मिलेगी।

मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे याद है, फरवरी 2015 में दिल्ली के जब विधानसभा चुनाव हुए थे, उन चुनावों के प्रचार के लिए जब मैं इस इलाके में जाया करता था, तब लोगों की मांग थी कि यह एक किलोमीटर सेक्शन है, यहां एक और स्टेशन बनना चाहिए। हमने उनसे वादा किया था और दिल्ली में सरकार बनने के कुछ महीनों के अंदर ही हमने यह वाला जो स्ट्रेच है और यह ढांसा बस स्टैंड है, इसको दिल्ली सरकार ने मंजूर किया था। केंद्र सरकार ने भी इसको स्वीकार किया। हम केंद्र सरकार के शुक्रगुजार हैं। आज इस मौके पर मैं दिल्ली मेट्रो के सभी कर्मचारियों, अधिकारियों, इंजीनियर और मंगू साहब की टीम को बहुत-बहुत बधाई देना चाहता हूं। खासकर केंद्र सरकार को धन्यवाद देना चाहता हू।ं केवल यही स्ट्रेच ही नहीं, पूरी दिल्ली मेट्रो की यात्रा के अंदर जिस तरह से दिल्ली के लोगों का केंद्र सरकार ने सहयोग किया, उसके लिए मैं केंद्र सरकार का तहे दिल से शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। नजफगढ़ के लोगों और पूरे दिल्ली की जनता को पुनः बहुत-बहुत बधाई। दिल्ली मेट्रो की अब तक की प्रगति अभूतपूर्व रही है। मुझे आशा है कि डीएमआरसी विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे के निर्माण और दिल्ली-एनसीआर के लोगों को सर्वाेत्तम सेवाएं प्रदान करने के लिए उसी उत्साह और उत्साह के साथ जारी रहेगा।

नजफगढ़ से ढांसा बस स्टैंड तक दिल्ली मेट्रो के विस्तारित ग्रे लाइन कॉरिडोर के उद्घाटन अवसर पर केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी और मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने एक साथ हरी झंडी दिखाकर मेट्रो को रवाना किया। इस दौरान भारत में जापान के राजदूत श्री सतोशी सुजुकी, दिल्ली के परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत, डीएमआरसी के एमडी डॉ. मंगू सिंह समेत अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।
परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर कहा, ‘‘बधाई नजफगढ़! आज के दिन का मेरे लिए दो कारणों से विशेष महत्व है। पहला दिल्ली के परिवहन मंत्री के रूप में- दिल्ली में मौजूदा मेट्रो नेटवर्क का विस्तार हो रहा है और दूसरा नजफगढ़ के विधायक के रूप में- एक नया मैट्रो स्टेशन (ढ़ासा बस स्टैंड) नजफगढ़ विधानसभा में जोड़ा जा रहा है।

ग्रे लाइन कॉरिडोर चार स्टेशनों के साथ 6.10 किमी लंबा हुआ
नजफगढ़ से धंसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन तक बनाया गया यह मेट्रो रूट 1.2 किलोमीटर लंबा है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज इस रूट का उद्घाटन किया और इसी के साथ दिल्ली मेट्रो नेटवर्क ढांसा बस स्टैंड तक बढ़ गया है। इस सेक्शन के खुलने से द्वारका-ढांसा बस स्टैंड ग्रे लाइन कॉरिडोर चार स्टेशनों के साथ 6.10 किलोमीटर लंबा हो गया है। यह द्वारका, नंगली, नजफगढ़ और ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन हैं। अब आसपास रहने वाले लोग इन स्टेशनों से मेट्रो लेकर दिल्ली के विभिन्न इलाकों और नोएडा व गाजियाबाद तक सफर कर सकते हैं। द्वारका में एक इंटरचेंज के साथ ग्रे लाइन नजफगढ़ और धनसांड से शहर के विभिन्न हिस्सों तक निर्बाध संपर्क प्रदान करेगी। ढांसा बस स्टैंड से मेट्रो कनेक्टिविटी होने के बाद नजफगढ़ और ढांसा बस स्टैंड के आसपास के आंतरिक क्षेत्रों के निवासियों को काफी लाभ मिलेगा।

रंगीन कलाकृति से सजाया गया है ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन
ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन को रंगीन कलाकृति से सजाया गया है, जो क्षेत्र की स्थानीय संस्कृति, जीवन शैली और समृद्ध जैव विविधता को खूबसूरती से दर्शाता है। डीएमआरसी हमेशा अपने स्टेशनों पर कलाकृतियों के माध्यम से किसी क्षेत्र की विरासत और संस्कृति को चित्रित करने का प्रयास करता है। ढांसा बस स्टैंड स्टेशन की बिल्डिंग को इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (आईजीबीसी) द्वारा प्लेटिनम रेटिंग दी गई है। ग्रीन बिल्डिंग मानदंडों के पालन के लिए यह उच्चतम रेटिंग है।

ढांसा बस स्टैंड खुलने से सड़क पर वाहनों का कम होगा बोझ
दिल्ली सरकार वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने का लगातार प्रयास कर रही है। दिल्ली मेट्रो के इस सेक्शन के खुलने के बाद सड़कों पर वाहनों का बोझ कम हो जाएगा, जिससे क्षेत्र में वाहनों से होने वाले प्रदूषण में भी कमी आएगी। साथ ही, आस-पास के क्षेत्रों में सुरक्षित और आरामदायक सार्वजनिक परिवहन का विकल्प मिलेगा। वहीं इको-फ्रेंडली मोबिलिटी के विभिन्न तरीकों के माध्यम से शहर में लास्ट माइल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के प्रयास जारी हैं। हाल ही में, डीएमआरसी ने इलेक्ट्रिक फीडर बसें लॉन्च कीं और अन्य विकल्प जैसे कि ई-रिक्शा और ई-बाइक पहले से ही उपलब्ध हैं। भविष्य में, लास्ट माइल कनेक्टिविटी को आसान बनाने के लिए और अधिक सुविधाएं शुरू की जाएंगी।

भूमिगत पार्किंग में खड़े किए जा सकेंगे 300 वाहन
ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन दिल्ली मेट्रो नेटवर्क का पहला भूमिगत मेट्रो स्टेशन है, जिसमें वाहनों की पार्किंग के लिए समर्पित एक भूमिगत पार्किंग है। पार्किंग सुविधा को मुख्य स्टेशन क्षेत्र के साथ जोड़ा गया है, जहां वाहनों का उपयोग करने वाले लोग अपनी कारों और दोपहिया वाहनों को खड़ी कर सकते हैं और फिर वहां से लिफ्ट और एस्केलेटर का उपयोग कर सीधे स्टेशन तक जा सकेंगे। ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन भूमिगत बनाया गया है और इसमें प्रवेश और निकास पर आसान गतिशीलता प्रदान करने के लिए सभी सुविधाएं और आधुनिक आधारभूत संरचना है। दिल्ली सरकार अपने बाहरी दिल्ली क्षेत्रों में विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं और यह मेट्रो विस्तार इस संबंध में एक महत्वपूर्ण कदम है।

…तो दिल्ली मेट्रो, लंबाई के मामले में लंदन ट्यूब को छोड़ देगी पीछे
वर्तमान में, दिल्ली मेट्रो परियोजना के चौथे चरण का विस्तार तीन प्रमुख कॉरिडोर मजलिस पार्क से मौजपुर, जनकपुर पश्चिम से आरके आश्रम मार्ग और दिल्ली एयरोसिटी से तुगलकाबाद तक निर्माणाधीन है। यह पूरा होने के बाद, चौथे चरण के कॉरिडोर बाहरी इलाकों और राष्ट्रीय राजधानी के भीड़भाड़ वाले आंतरिक इलाकों को कनेक्टिविटी प्रदान करेंगे। दिल्ली एयरोसिटी से तुगलकाबाद तक एक नया कॉमिडोर, जिसका कलर कोड सिल्वर लाइन होगा, वह भी आएगा। चौथे चरण के बाकी दो कॉरिडोर मौजूदा पिंक और मैजेंटा लाइन्स का विस्तार है। दिल्ली मेट्रो पहले से ही दुनिया के सबसे बड़े मेट्रो नेटवर्कों में से एक है। वहीं, चौथे चरण की परियोजना पूरी होने के बाद डीएमआरसी नेटवर्क, लंबाई के मामले में लंदन ट्यूब को भी पीछे छोड़ देगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: