बॉलीवुड की थलाइवी – कंगना रनौत – Koo (कू) पर

केवल छह महीनों में कंगना बॉलीवुड की पहली ऐसी अभिनेत्री बन गई हैं, जिनके सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक मिलियन फॉलोअर्स हैं

Image Source : Google

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री और बॉलीवुड की रानी – कंगना रनौत -ने भारत के माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म Koo (कू) पर तूफ़ान ला दिया है। फ़रवरी 2021 में Koo (कू) पर अपना खाता खोलने के बाद से उनके 1 मिलियन फॉलोअर्स हो गए हैं। प्रशंसकों ने कंगना को इस मुकाम तक पहुंचने पर बधाई दी और कई कूस ने अभिनेता के शानदार प्रदर्शन और व्यावसायिक सफलता के बारे में बात की। कंगना के आधिकारिक Koo (कू) अकाउंट -@kanganaroffical – ने जबरदस्त कर्षण प्राप्त किया और पिछले तीन महीनों में उनके फॉलोअर्स लगभग दोगुने हो गए हैं जिससे वह मंच पर यह उपलब्धि हासिल करने वाली एकमात्र महिला सेलिब्रिटी बन गईं हैं।

कंगना अपनी आने वाली त्रिभाषी फिल्म थलाइवी के बारे में उत्साह से पोस्ट कर रही हैं – जो तमिलनाडु की स्व. मुख्यमंत्री जे जयललिता की बायोपिक है जिसमें वह अरविंद स्वामी के साथ अभिनय कर रहीं हैं। फ़िल्म के बारे में एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि वह भूमिका से काफ़ी डर गई थी और उन्होंने अपने और स्व. नेता के बीच कई समानताएं देखी । Koo (कू) पर हाल ही में एक पोस्ट में कंगना ने आधिकारिक पोस्टर के साथ फ़िल्म ‘थलाइवी’ के पहले गाने तेरी आंखों में की घोषणा की।

Koo (कू) के एक प्रवक्ता ने कहा: “हमें खुशी है कि कंगना हमारे प्लेटफॉर्म पर एक मिलियन फॉलोअर्स तक पहुंच गई है। मंच के शुरुआती समर्थक के रूप में उन्होंने Koo (कू) को वास्तविक संबंध बनाने के लिए भाषाई बाधाओं पर काबू पाने के संदेश को प्रचारित करने में मदद की है। वह व्यक्त करने की पथप्रदर्शक रही हैं और हमेशा मंच पर बिना किसी हिचकिचाहट के अपनी राय व्यक्त की हैं। हम उनके समर्थन की सराहना करते हैं और कामना करते हैं कि उनको और भी कई उपलब्धियां हासिल हो। हमें विश्वास है कि हमारी बहुभाषी विशेषताएं उन्हें देश भर में अपने प्रशंसकों से जुड़ने में मदद करेंगी।

कंगना रनौत कई पुरस्कारों की प्राप्तकर्ता हैं, जिनमें चार राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और चार फ़िल्मफेयर पुरस्कार शामिल हैं। उन्हें प्यार से बॉलीवुड की रानी के रूप में जाना जाता है और उन्होंने मणिकर्णिका – द क्वीन ऑफ़ झांसी, का निर्देशन किया हैै जिसमें वह मुख्य नायिका हैं।

Koo (कू) के बारे में
Koo (कू) की स्थापना मार्च 2020 में भारतीय भाषाओं में एक माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में की गई थी। कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध Koo (कू) भारत के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को अपनी मातृभाषा में ख़ुद को व्यक्त करने में सक्षम बनाता है। एक ऐसे देश में जहां भारत का सिर्फ़ 10% हिस्सा अंग्रेजी बोलता है, वहां एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की अत्यधिक आवश्यकता है जो भारतीय उपयोगकर्ताओं को व्यापक भाषा अनुभव प्रदान कर सके और उन्हें एक-दूसरे से जुड़ने में मदद कर सके। Koo (कू) उन भारतीयों की आवाज़ के लिए एक मंच प्रदान करता है जो भारतीय भाषाओं में बातचीत करना पसंद करते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: