“ए फोटोग्राफिक गाइड टू दी बर्ड रिचेज़ ऑफ दरभंगा” पुस्तक का विमोचन

ओपन सर्च -ब्यूरो. दरभंगा ।कुलपति प्रो. सुरेंद्र प्रताप सिंह द्वारा पुस्तक “ए फोटोग्राफिक गाइड टू दी बर्ड रिचेज़ ऑफ दरभंगा” का विमोचन विश्वविद्यालय कार्यालय में संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रतिकुलपति प्रोफेसर डॉली सिंहा, कुलसचिव प्रोफेसर मुस्तफा, वित्तीय सलाहकार श्री कैलाश राम, आई क्यू ए सी के डायरेक्टर प्रोफ़ेसर एन के अग्रवाल उपस्थित थे। कुलपति ने पुस्तक किस संदर्भ में बताया यह पुस्तक दरभंगा के पक्षी धन के संदर्भ में एक उत्कृष्ट उल्लेख है।
विश्वविद्यालय भूगोल विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. मनु राज शर्मा ने पुस्तक का लेखन, संकलन एवं संपादन किया है। डॉ. शर्मा ने बताया कि पक्षी स्वतंत्रता के प्रतीक हैं और उन्होंने इतिहास में मानवीय कल्पनाओं को प्रेरित किया है। यह पुस्तक दरभंगा के ऐतिहासिक सांस्कृतिक परिदृश्य में विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों के आवास, उनके संरक्षण तथा पर्यावरणीय अवनयन पर समीक्षा प्रस्तुत करती है । इस पुस्तक में पक्षियों की संक्षिप्त परिचय के रूप में आम पाठकों, शोधकर्ताओं, विशेष रूप से जैव-भौगोलिकविदों, पर्यावरणविदों और संरक्षणवादियों को संबोधित करती है। लेखक ने पक्षियों की फोटोग्राफी पर एक खंड जैसे पक्षी आवास का चयन, पक्षी फोटोग्राफी के लिए उपयुक्त समय, पक्षियों की बातचीत का अवलोकन और व्यवहार अनुकूलन आदि पर अंतर्दृष्टि प्रदान किया हैं।
यह पुस्तक दरभंगा में एक समृद्ध पक्षी विविधता का खुलासा करती है जिसमें 16 आदेशों, 29 परिवारों के पक्षियों व्याख्यान दिया गया गया है। शहरी क्षेत्र में पाए जाने वाले पक्षी जैसे बारबेट, ब्लैक ड्रोंगो, किंगफिशर, कठफोड़वा, कबूतर, मैना, बुलबुल और गौरैया आदि जैसे अनुकूल पक्षियों के व्यवहार, जलवायु परिवर्तन के प्रभाव तथा इनके संरक्षण पर जोर दिया गया है। लेखक ने दरभंगा और उसके आसपास बढ़ते शहरी क्षेत्र का प्रभावात्मक पक्षियों की घटती जनसंख्या पर चिंता व्यक्त की है। लेखक ने दरभंगा के जलाशयों एवं चौर क्षेत्रों पर निर्भर पक्षियों के अध्ययन पर विशेष बल दिया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: