बसवराज बोम्मई ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के विजेताओं को किया सम्मानित

जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ने टोक्यो ओलंपिक 2020 चैंपियनों सम्मान प्रतीक के रूप में विशेष ब्रोच देकर दी बधाई इस साल ज्वैलर्स फॉर होप के लाभार्थियों में उदयन केयर और एसडीए-डायमंड हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर शामिल थे

जेम एंड ज्वैलरी उद्योग की ओर से, जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) ने अपनी CSR पहल ‘ज्वेलर्स फॉर होप’ में 3 टोक्यो ओलंपिक 2020 के विजेताओं को सम्मानित किया। यह कर्नाटक के मुख्यमंत्री-श्री बसवराज बोम्मई की उपस्थिति में किया गया । इसके अलावा इस समारोह में संयुक्त सचिव, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय-श्री. एस सुरेश कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव, वाणिज्य एवं उद्योग विभाग, श्री. ई.वी. रमना रेड्डी, और श्री कॉलिन शाह, अध्यक्ष और विपुल शाह, उपाध्यक्ष, जीजेईपीसी ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज की। 15 सितंबर को बेंगलुरु में चैरिटी डिनर का आयोजन किया गया था।

ज्वैलर्स फॉर होप (JFH) जीजेईपीसी द्वारा 2014 में शुरू की गई एक पहल है, जो मैन्युफैक्चरर,ट्रेडर्स से लेकर माइनर्स और रिटेलर्स तक पूरे उद्योग को संगठित करने के लिए, उन संगठनों के लिए धन जुटाने के लिए है जो शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में अच्छा काम कर रहे हैं, या महिलाओं और समाज के वंचित वर्ग को सशक्त बनाने के लिए प्रयासरत रहे हैं। ज्वैलर्स फॉर होप के लिए इस वर्ष के लाभार्थी थे उदयन केयर- एक सार्वजनिक धर्मार्थ ट्रस्ट जो भारत के 15 राज्यों में कमजोर बच्चों, महिलाओं और युवाओं को सशक्त बनाने के लिए काम कर रहा है और एसडीए-डायमंड हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर- एक बहु-विशिष्ट अस्पताल पिछले 7 वर्षों से न्यूनतम शुल्क पर निम्न और मध्यम वर्गीय समाज के लिए, सर्वोत्तम स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने हेतु सक्रिय है।

इस आयोजन ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए ओलंपिक विजेताओं के साथ जश्न मनाया। परिषद ने भारतीय पुरुष हॉकी टीम के टीम सदस्य श्री रूपिंदर पाल सिंह; श्री कृष्णा नागर, गोल्ड मेडल विजेता, पैरा- बैडमिंटन; और श्रीमती भावना पटेल, गोल्ड मेडल विजेता, पैरा टेबल टेनिस को सम्मानित किया। ओलंपियनों को ‘आर्टिसन अवार्ड्स 2021’ जीजेईपीसी की वार्षिक डिजाइन प्रतियोगिता के विजेता द्वारा डिजाइन किया गया एक विशेष ब्रोच देकर सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री श्री. बसवराज बोम्मई ने कहा,  हमारे अंदर स्किल होना शिक्षा का उच्चतम स्तर है क्योंकि यह भारतीय
अर्थव्यवस्था को विकसित करने में अहम भूमिका निभाता है। मैं इस क्षेत्र में 43 लाख कुशल श्रमिकों को ऐसा करते
देखकर बेहद ही सकारात्मक हूं। आभूषण व्यवसाय यहां फलने-फूलने के लिए है, क्योंकि आभूषण भारतीय परिवार का एक अभिन्न अंग है। यह पुरुषों और महिलाओं द्वारा समान रूप से धारण किया जाता है और मंदिरों में मूर्तियों पर चढ़ाया जाता है। आभूषण न केवल एक स्टेटस सिंबल है, बल्कि कठिनाईयों के दिनों में परिवारों के लिए एक
आकस्मिक योजना भी है।

उन्होंने आगे कहा कि कर्नाटक ज्वेलरी पार्क की स्थापना कर रहा है और इसके लिए विभिन्न अवसरों का पता लगाने के लिए परिषद के साथ काम कर रहा है। इससे कोस्टल और उत्तरी कर्नाटक के कुशल कारीगरों को लाभ प्राप्त होगा।ओलंपियनों को सम्मानित करने के लिए जीजेईपीसी की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया जाएगा और राज्य आगामी ओलंपिक के लिए प्रशिक्षण 75 खिलाड़ियों का चयन करेगा।

कॉलिन शाह, चेयरमैन, जीजेईपीसी ने कहा, “कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में रत्न और आभूषण उद्योग सबसे आगे रहा है। उद्योग ने कोविड-19 के कठिन समय के दौरान समग्र राहत प्रदान की है। उद्योग कई धर्मार्थ कार्यों में लगा हुआ है क्योंकि सभी ने कारीगरों को भोजन, चिकित्सा सहायता, कारीगरों को राहत आदि प्रदान करने के लिए खुले दिल से काम किया। कुछ लोगों ने व्यक्तिगत स्तर पर सहायता प्रदान की तो कहीं लोगों ने सामूहिक रूप से।

उद्योग बड़े पैमाने पर समाज के विकास में बहुत योगदान दे रहा है, जिसके तहत अनाथालय, वृद्धाश्रम, स्कूल, अस्पताल, स्वच्छता, आदि मुद्दों पर विशेष रूप से प्रयासरत है।” कॉलिन शाह ने आगे बताया कि“महामारी के दौरान, जीजेईपीसी ने कारीगरों के लिए कोविड फंड की शुरुआत की, जिसे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के रूप में रत्न और आभूषण उद्योग के दैनिक वेतन भोगी श्रमिकों के बैंक खातों में सीधे पैसे ट्रांसफर किए गए थे। जीजेईपीसी ने महामारी से निपटने और राहत उपायों को प्रदान करने के सरकार के प्रयासों का समर्थन करने के लिए, पीएम केयर्स फंड में पर्याप्त राशि का योगदान दिया। GJEPC सदस्य कंपनियों के कर्मचारियों के लिए स्वास्थ्य रत्न चिकित्सा बीमा पॉलिसी लेकर आया है, जिसने अब तक 7 लाख लोगों को कवर किया गया है। स्वास्थ्य कोष फंड इस क्षेत्र में अनुबंधित और असंगठित कार्यबल के स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम का 75% भुगतान करता है।

अपनी स्थापना के बाद से, रत्न और आभूषण उद्योग ने समाज को हर रूप में सहायता प्रदान करने और कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर एकजुट होने के एक तरीके के रूप में सीएसआर पहल का नेतृत्व किया है। समाज की बेहतरी के लिए उद्योग जगत ने एक महत्वपूर्ण रोल अदा किया हैं। 2020 की महामारी के कारण लॉकडाउन और कारीगरों के बड़े पैमाने पर पलायन के बावजूद, उद्योग ने एकीकृत प्रयासों की बदौलत अभूतपूर्व वृद्धि दर्ज की। परिषद द्वारा उद्योग जगत के परोपकारी गतिविधियों पर एक बुक ;ज्वेलर्स फॉर होप का भी प्रकाशन किया है जिसमें सभी प्रमुख पहलों का विस्तार से विवरण दिया गया है।

पहले भी, ज्वैलर्स फॉर होप ने मेक ए विश फाउंडेशन, स्वदेस फाउंडेशन, फ्रेंड्स ऑफ ट्राइबल सोसाइटी, बालिका शिक्षा, स्वच्छता आदि की दिशा में काम करने वाले गैर सरकारी संगठनों का समर्थन किया है। साथ ही, नोबेल पुरस्कार विजेता श्री कैलाश सत्यार्थी द्वारा संचालित एक स्वैच्छिक कार्य संघ को भी आवश्यक समर्थन दिया है जो भारत में बच्चों के बीच सभी प्रकार के शोषण को समाप्त करने के मिशन के साथ काम करता है; सामाजिक कार्यकर्ता सुश्री शाइना एनसी द्वारा संचालित जायंट्स वेलफेयर इंटरनेशनल; भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति या जयपुर फुट पद्म भूषण प्राप्तकर्ता श्री डी.आर. मेहता विकलांगों को कृत्रिम अंग, कैलीपर्स और अन्य सहायता नि:शुल्क प्रदान करते हैं।

जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) के बारे में वाणिज्य मंत्रालय, भारत सरकार (जीओआई) द्वारा 1966 में स्थापित जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) देश के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई कई निर्यात संवर्धन परिषदों (ईपीसी) में से एक है। GJEPC रत्न और आभूषण उद्योग का शीर्ष निकाय है और आज इस क्षेत्र में 7000 निर्यातकों का प्रतिनिधित्व करता है। मुंबई में मुख्यालय के साथ, जीजेईपीसी के नई दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, सूरत और जयपुर में क्षेत्रीय कार्यालय हैं, जो सभी उद्योग के प्रमुख केंद्र हैं। इस प्रकार इसकी व्यापक पहुंच है और सदस्यों के साथ प्रत्यक्ष और अधिक सार्थक तरीके से उनकी सेवा करने के लिए निकट संपर्क करने में सक्षम है। पिछले दशकों में, जीजेईपीसी सबसे सक्रिय ईपीसी में से एक के रूप में उभरा है, और अपनी प्रचार गतिविधियों में अपनी पहुंच और गहराई का विस्तार करने के साथ-साथ अपने सदस्यों के लिए सेवाओं को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: