मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज छात्रावास को नए‌ सिरे से बनाएगी केजरीवाल सरकार

अत्याधुनिक सुविधाओं वाले छात्रावास में रहकर 2 हजार छात्र कर सकेंगे पढ़ाई मौजूदा 438 बेड से बढ़ाकर 1000 बेड की जाएगी मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के छात्रावास की क्षमता- सत्येंद्र जैन

नई दिल्ली दिल्ली के लोक निर्माण विभाग मंत्री श्री  सत्येंद्र जैन ने विभाग के अधिकारियों और वास्तुकारों के साथ बैठक की।  मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के नए छात्रावास को बनाने की रूप रेखा पर चर्चा की। केजरीवाल सरकार मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज हॉस्टल को नए सिरे से बना रही है। स्नातक एवं स्नातकोत्तर मेडिकल छात्रों के लिए इस छात्रावास को बनाया जाएगा।
केजरीवाल सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज का नया छात्रावास आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा। छात्रावास की मौजूदा क्षमता 438 बेड की है। इसकी क्षमता को बढ़ाकर 1000 हजार बेड ले जाया जाएगा। इस छात्रावास को केजरीवाल सरकार कम लागत और बेहतर डिजाइन के साथ बनाएगी।

बैठक में मंत्री सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों को लागत प्रभावी संरचना बनाने के दौरान डिजाइन पर ध्यान देने के निर्देश दिए, ताकि अधिक छात्रों के लिए छात्रावास बनाया जा सके।

श्री  सत्येंद्र जैन ने कहा डिजाइन को ध्यान में रखते हुए किफायती लागत से भवन बनाया जाना चाहिए, ताकि छात्रावास में अधिक छात्रों को समायोजित किया जा सके। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य लागत को कम करना है। लेकिन इमारत की ताकत और डिजाइन से समझौता नहीं करना है। अधिकारियों को इसके लिए नए तरीकों की तलाश करनी चाहिए।

श्री सत्येंद्र जैन ने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा कि दिल्ली सरकार आधुनिक तकनीकों का उपयोग करके उन्नत सुविधाओं के साथ मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज छात्रावास को नया रूप दे रही है। इसके लिए पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों और वास्तुकारों के साथ एक बैठक बुलाई और उन्हें एक लागत प्रभावी मॉडल बनाने और हॉस्टल क्षमता को 428 बेड से बढ़ाकर 1000 बेड करने के निर्देश दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: