सिसोदिया ने सीटीएस में टॉप करने वाले  विद्यार्थियों को किया सम्मानित

*स्किल्ड यूथ ही रख सकते है विकसित देश की नींव, अपने हुनर से दिल्ली के छात्र पूरी दुनिया में बनाएंगे अपनी नई पहचान : उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया* *सभी आईटीआई में बने प्लान ऑफ़ एक्शन, कोरोना के कारण विद्यार्थियों में आए लर्निंग गैप को खत्म करने के लिए प्रैक्टिकल पर हो जोर: उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया*

नई दिल्ली। उपमुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को दिल्ली सरकार के आईटीआई में क्राफ्ट्समैन ट्रेनिंग स्कीम(सीटीएस) में टॉप करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया| इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आईटीआई जैसी संस्थानों से ट्रेनिंग लेकर निकलने वाले हुनरमंद छात्र भविष्य की नई इबारत लिखेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा देश विकसित तभी बनेगा जब देश का हर युवा स्किल्ड हो. डिग्री हासिल करने के साथ साथ  युवाओं को हुनरमंद बनना होगा. इस दौरान मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों से संवाद भी किया। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण बच्चों के पढ़ाई का काफी नुकसान हुआ है| इसे लेकर उन्होंने प्रधानाचार्यों को निर्देश दिए की बचे समय में विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिकल कार्य करने में समय बिताने का मौका दिया जाए|

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि स्किल एजुकेशन के क्षेत्र में दिल्ली के आईटीआई काफी बेहतर प्रदर्शन कर रहे है| उन्होंने कहा कि हम एक ऐसे दौर में जी रहे है जहां स्किल्स के बिना जिंदगी आसान नहीं बन सकती है| एक स्किल्ड यूथ ही विकसित देश की नींव रख सकते है| उन्होंने आईटीआई को और बेहतर करने के लिए विद्यार्थियों से फीडबैक मांगे ताकि दिल्ली के आईटीआई को और बेहतर किया जा सके और दिल्ली के युवाओं को वर्ल्ड-क्लास ट्रेनिंग दी जा सके|

कोरोना के कारण लम्बे समय से आईटीआई के बंद रहने के कारण विद्यार्थियों को काफी नुकसान हुआ है। इस लर्निंग गैप को खत्म करने और पढ़ाई में हुए नुकसान को कम करने के लिए उपमुख्यमंत्री ने सभी आईटीआई के प्रधानाध्यापकों को निर्देश दिए की जल्द से जल्द एक प्रोग्राम ऑफ़ एक्शन बनाया जाए और विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिकल काम करने मौका दिया जाए ताकि जब वो अपने कोर्स को पूरा करने के बाद जॉब मार्किट में जाए तो उनके पास अपने कोर्स का पूर्ण व्यहारिक ज्ञान भी हो|

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के 19 सरकारी आईटीआई में विद्यार्थियों को 49 ट्रेड्स में ट्रेनिंग मुहैया करवाई जाती है| ये सभी ट्रेड्स नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग द्वारा एफिलिएटेड है| हर साल इन संस्थानों में लगभग 11 हज़ार विद्यार्थी दाखिला लेते है| और ट्रेनिंग करने के बाद 80% से ज्यादा विद्यार्थियों को आसानी से रोजगार मिल जाता है।

सीटीएस के तहत ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट में शिवा ने प्रथम  सुरुचि कुमारी ने दूसरा और आकाश मौर्य ने तीसरा स्थान प्राप्त किया  जबकि सीटीएस के तहत फाइनल ट्रेड टेस्ट में दिल्ली स्टेट टॉपर्स के रूप में  प्रीति ने पहला , सपना देवी ने दूसरा और हेमलता ने तीसरा स्थान प्राप्त किया ।

समारोह में कालका जी की माननीय विधायक आतिशी, एस.बी.दीपक कुमार(सचिव,डीटीटीई), रंजना देशवाल(निदेशक, डीटीटीई) सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे|

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: