दिल्ली सरकार ने कंटेनर से तैयार किए पोर्टेबल ‘मॉड्यूलर’ मोहल्ला क्लीनिक

Image Source : Google

देश की राजधानी में दिल्ली सरकार (Delhi government) द्वारा बनाए गए मोहल्ला क्लीनिक (Mohalla Clinic) अब बदले बदले नजर आएंगे. पहले से ज़्यादा आकर्षक और सुविधाओं वाले ये मोहल्ला क्लिनिक पोर्टेबल होंगे, जिन्हें जरूरत पड़ने पर एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट किया जा सकेगा. वहीं, पहला मोहल्ला क्लीनिक स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (health minister satyendra jain) के विधानसभा जिले शकूर बस्ती में बन रहा है.

दरअसल, आम आदमी पार्टी द्वारा बनाए गए पहला मोहल्ला क्लीनिक कंक्रीट द्वारा ऑन-साइट बनाए जाते थे, जिनमें चोरी और तोड़फोड़ की शिकायतें अक्सर आती रहती थीं. ऐसे में ये नए मोहल्ला क्लीनिक शिपिंग कंटेनर के ज़रिए बनाए जा रहे हैं, जिनमें चोरी और तोड़फोड़ की घटनाओं को कम किया जा सकेगा. इसके साथ ये मोहल्ला क्लीनिक के कंटेनर्स फैक्टरी से बनकर सीधा लोगों के बीच पहुंचेंगे. वहीं, मोहल्ला क्लीनिक बनाने के लिए दिल्ली सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती जमीन अधिग्रहण को लेकर रही है. ऐसे में नए मोहल्ला क्लीनिक कम जगह में बनाए जा सकेंगे और जरूरत पड़ने पर इन्हें एक जगह से दूसरी जगह पर आसानी से शिफ्ट भी किया जा सकेगा.

शकूर बस्ती में बनाया गया नया पोर्टेबल मोहल्ला क्लीनिक
वहीं, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि बाहर से लाल रंग के यह मोहल्ला क्लीनिक जितने आकर्षक लग रहे हैं, अंदर से भी उतने ही खूबसूरत हैं. इसमें बकायदा वुडन वर्क का काम किया गया है और मरीजों और डॉक्टरों को कोई परेशानी न हो इसमें बैंठने के लिए इसलिए इसमें एसी भी लगाए गए हैं. फिलहाल दिल्ली के शकूर बस्ती इलाके में नए पोर्टेबल मोहल्ला क्लीनिक स्थापित किए गए हैं. अगर यह नए मोहल्ला क्लीनिक का फार्मूला प्रयोग में सफल हो जाता है तो आने वाले समय में नए मोहल्ला क्लीनिक की रूपरेखा बनाकर पूरी तरह से अपनाया जा सकता है.

2015 से अब तक बने 500 मोहल्ला क्लीनिक
बता दें कि साल 2015 में जब दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी. तब सरकार ने 1000 मोहल्ला क्लीनिक बनाने का वादा किया था, दिल्ली में अभी तक 500 मोहल्ला क्लीनिक बनाए जा चुके हैं. हालांकि, पिछले कुछ सालों में, जमीन की खरीद कई मुद्दों में से एक रही है. ऐसे में आम आदमी पार्टी की प्रमुख परियोजनाओं में से एक इन मोहल्ला क्लीनिकों के निर्माण के लिए जमीन हासिल करना एक कठिन लड़ाई रही है.

News Source : www.tv9hindi.com

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: