NDMC कन्वेंशन सेंटर में 36वें राष्ट्रीय खेलों में भाग लेने वाली टीमों को झंडी दिखाकर रवाना किया

नई दिल्ली, 26 सितंबर, 2022 । नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के उपाध्यक्ष श्री सतीश उपाध्याय (Mr. Satish Upadhyay, Vice-Chairman, New Delhi Municipal Council) ने 36वें राष्ट्रीय खेलों (36th National Games) में भाग लेने वाली टीमों/खिलाड़ियों को झंडी दिखाकर एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर, जय सिंह रोड नई दिल्ली से गुजरात में दिल्ली ओलंपिक संघ द्वारा आयोजित खेलों के लिए रवाना किया ।

श्री बी.एस.भल्ला, अध्यक्ष- पालिका परिषद ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया और सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दीं और उन्होंने आशा व्यक्त की कि दिल्ली के खिलाड़ी इन खेलों में अधिक से अधिक ट्राफियां जीत कर आयेंगे ।

श्री उपाध्याय ने बताया कि गुजरात में सितंबर-अक्टूबर, 2022 के महीने में 36वें राष्ट्रीय खेलों 2022 का आयोजन  किया जा रहा है और इन खेलों में दिल्ली दल के खिलाड़ी भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि इन प्रतिष्ठित खेलों में 500 खिलाड़ी और 100 अधिकारी हिस्सा लेंगे ।

खिलाड़ियों को हरी झंडी दिखाने के बाद, श्री उपाध्याय ने खिलाड़ियों के साथ बातचीत की और अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पहले ही “खेलो इंडिया – युवा प्रतिभाओं की मदद करने के लिए एक मिशन” के तहत देश में खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए योजनाएं शुरू की हैं । उन्होंने आगे कहा कि खेल न केवल व्यक्ति को स्वस्थ, मजबूत, तनाव मुक्त बनाते हैं बल्कि खेल लोगों को जोड़ते हैं और जब कोई व्यक्ति टीम के खेल में भाग लेता है, तो हम एक दूसरे के बारे में अधिक सीखते हैं । इस अवसर पर श्री उपाध्याय ने खिलाडियों को ट्रैक-सूट भी वितरित किये ।

इस अवसर पर श्री उपाध्याय ने कहा कि पूरा देश आजादी के 75 साल को आजादी का अमृत महोत्सव के रूप में मना रहा है, इसलिए हमारे लिए अपने ही देशों में खेलों को आगे ले जाना ज्यादा जरूरी है क्योंकि खेलों के कारण दूसरे देशों में भारत देश का बहुत बडा नाम है ।

उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों का महाभारत के अर्जुन जैसा लक्ष्य होना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय खेल, फिर ओलंपिक, फिर एशियाई खेल, फिर राष्ट्रमंडल खेल, विश्व राष्ट्रीय खेल आदि की तरह एक के बाद एक लक्ष्य तैयार करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मेरा व्यक्तिगत रूप से खेलों के प्रति काफी जुड़ाव रहा है और मैं हमेशा किसी भी परिस्थिति में खिलाड़ियों के लिए खड़ा रहा हूँ और रहूँगा भी । उन्होंने कहा कि मैं परिषद के अध्यक्ष से सिफारिश भी करूंगा कि खिलाड़ियों को परिषद् के वर्ल्ड क्लास स्टेडियम में खेलने और अभ्यास करने का मौका दिया जाए ।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के खिलाड़ी दिल्ली का प्रतिनिधित्व करते हैं और राष्ट्रीय खेलों में भाग लेते हैं और उनमें से कुछ के पास इन खेलों को जीतने का सपना और जुनून भी है।

उन्होंने आगे कहा कि खेल और शारीरिक शिक्षा मानव विकास, अच्छे स्वास्थ्य और साहचर्य और मैत्रीपूर्ण प्रतिस्पर्धा की भावना के आवश्यक घटक हैं। इससे व्यक्तित्व के समग्र विकास पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है खेलों में प्रतिभा व्यक्ति की उपलब्धि, राष्ट्रीय गौरव और देशभक्ति की भावना को बढ़ाती है।

उन्होंने आगे बताया कि तीरंदाजी,  खोखो, मल्लखंब, रग्बी, फुटबॉल, कबड्डी, योगासन, रोइंग, कैनोइंग, स्केटिंग, टेनिस, गोल्फ, निशानेबाजी, लॉन बॉल, साइकिलिंग, भारोत्तोलन, जूडो, तलवारबाजी, बॉक्सिंग, कुश्ती, ट्रायथलॉन, स्क्वाश, एथलेटिक्स, सॉफ्ट बॉल, वॉली बॉल, टेबल टेनिस, बैडमिंटन, जिम्नास्टिक, हैंडबॉल, एक्वेटिक्स, हॉकी, बास्केटबॉल आदि जैसे खेल शामिल हैं जो इन खेलों में खिलाड़ी द्वारा खेले जायेंगे ।

इस अवसर पर श्री धर्म पॉल सिंगला (अध्यक्ष – टीआरडीपी समूह), श्री दीपक मिश्रा (सेवानिवृत्त आईपीएस – मुख्य संरक्षक), श्री के मणि ढौंडियाल(संरक्षक), श्री कुलदीप वत्स (अध्यक्ष), श्री दीपक सिंह(उपाध्यक्ष), श्री राकेश गुप्ता(जनरल सचिव), श्री सरोज शर्मा (कोषाध्यक्ष), श्री संजीव शर्मा (समन्वयक), श्री राजकुमार (चीफ डी-मिशन), श्री परमजीत सिंह(उप.चीफ डी-मिशन), श्री संजय के.अम्बस्ता(उप-चीफ डी मिशन), श्री मुकेश वत्स(डिप्टी चीफ डी मिशन) और बड़ी संख्या में खिलाडियों और कोच भी इस अवसर पर उपस्थित रहे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: