मीटर रीडिंग में गड़बड़ी को लेकर जलबोर्ड की कार्रवाई शुरू, पहली एफआईआर दर्ज

मीटर रीडिंग में गड़बड़ी की शिकायत नहीं की जाएगी बर्दाश्त, मीटर रीडर्स और कंपनी दोनों पर दर्ज कराई जा रही है एफआईआर- सौरभ भारद्वाज

मीटर रीडिंग में गड़बड़ी (meter reading error) को लेकर दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) ने सख्त रुख अपनाया है। बिलिंग के लिए नियुक्त प्राइवेट एजेंसियों के 1 मीटर रीडर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई है। इस मीटर रीडर के खिलाफ बिलिंग में गड़बड़ी को लेकर शिकायत मिली थी।

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज (Saurabh Bhardwaj, Vice Chairman, Delhi Jal Board) ने पिछले हफ्ते ही गड़बड़ी करने वाले मीटर रीडर्स और उनकी संबंधित एजेंसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली जल बोर्ड के अधिकारियों को ये निर्देश भी दिया कि न्यूनतम मानदेय से कम भुगतान करने वाली एजेंसियों को नोटिस जारी किया जाए। साथ ही साथ श्रम विभाग को भी पत्र लिखकर ऐसी एजेंसियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का अनुरोध किया जाए।

दिल्ली जल बोर्ड के कुल 41 जोन हैं। जिसमें 21 जोन में बिलिंग के लिए प्राइवेट एजेंसियों को नियुक्त किया गया है। पिछले कुछ वक्त से इन प्राइवेट एजेंसियों के मीटर रीडर्स के खिलाफ कई उपभोक्ताओं ने शिकायत की थी कि वो पैसे लेकर मीटर रीडिंग कम करने का प्रलोभन देते हैं।

ऐसे में उपाध्यक्ष ने कहा कि हमें ऐसे भ्रष्ट मीटर रीडरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के साथ साथ उपभोक्ताओं तक भी यह जानकारी पहुंचानी होगी कि मीटर रीडिंग कम करने की ऐसी कोई तकनीक नहीं है। मीटर रीडर इस बार तो रीडिंग कम लिखकर आपका बिल घटा देगा, परंतु अंततः इसका नुकसान आपको ही होगा। क्योंकि एक न एक दिन इस बिल का भुगतान आपको ही करना होगा और तब तक यह बिल इकट्ठा होकर बहुत अधिक हो चुका होगा।

सौरभ भारद्वाज ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में हमें ये सुनिश्चित करना है कि दिल्ली के लोगों को किसी भी तरह के भ्रष्टाचार का सामना न करना पड़े। किसी भी तरह के भ्रष्टाचार पर हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति है और आगे भी हम गड़बड़ी करने वाले मीटर रीडर्स के खिलाफ इसी प्रकार की सख्त कार्रवाई करते रहेंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: