भगत सिंह कोश्यारी तथा पुरषोत्तम रुपाला करेंगे ‘गऊ ग्राम महोत्सव – द फेस्टिवल ऑफ काऊ’ का उद्घघाटन

Bhagat Singh Koshyari and Purshottam Rupala to inaugurate 'Gau Gram Mahotsav - The Festival of Cow'

मुंबई से प्रकाशित समाचार पत्र ‘गऊ भारत भारती’ के तत्वाधान में गोरेगाँव(ईस्ट) मुम्बई स्थित चाफेकर चौक, संमित्र ग्राउंड में आयोजित सात दिवसीय ‘गऊ ग्राम महोत्सव – द फेस्टिवल ऑफ काऊ’ का उद्घघाटन दिनाँक 12 अक्टूबर को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी तथा केंद्रीय पशुपालन मंत्री पुरषोत्तम रुपाला  करेंगे। अन्य आमंत्रित अतिथियों में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फंडवीस ,मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे , उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ , उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी , असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा , और अन्य महानुभाव को आंमत्रित किया गया है। इस कार्यक्रम के आयोजन में राष्ट्रीय कामधेनु आयोग , जीव जंतु कल्याण बोर्ड भारत सरकार का भी मार्गदर्शन प्राप्त है। इस कार्यक्रम में आमंत्रित गऊ वैज्ञानिक , गऊ एक्सपर्ट , कृषि वैज्ञानिक , अपने अपने विचार रखेंगे जो सुबह के समय सेमीनार के माध्यम से होगा। सेमीनार के माध्यम से भारतीय गौवंश पर संशोधन , जैविक खेती ,  मिट्टी की उर्वरता इत्यादि विषयों पर परिचर्चा भी शामिल है।

इस कार्यक्रम के आयोजन समिति में मुख्यतः  रामकुमार पाल ,संतोष सहाने, ज्ञानमूर्ति शर्मा , कपिल कियावत ,विनोद कोठारी अजय यादव ,राजेश मेहता,विशाल भगत प्रमुख  है। कार्यक्रम के संरक्षक महेंद्र संगोई , अमरजीत मिश्र , अजय कौल , आरयू सिंह है। आयोजन के  प्रमुख सलाहकार संजय बलोदी ‘प्रखर’ द्वारा मंच संचालन किया जाएगा। बकौल आयोजक संजय अमान  भारत के सभी गऊ आधारित उत्पादन को बनाने वाले,गऊ माता वैज्ञानिकता के प्रचार – प्रसार में जुड़े लोग , उन सभी के  लिए यह एक साँझा मंच है जहाँ हम भारत वर्ष के सभी गौ भक्तों और गऊ आधारित प्रॉडक्ट बनाने वालों  को आमंत्रित कर रहे हैं । साथ में भारत सरकार के पशुपालन व डेरी मंत्रालय के सभी लाभकारी योजनाओं को भी इस मंच से प्रसारित कर रहे हैं । माननीय भारत के प्रधानमंत्री के उस सपने को साकार करने हेतु भी हम स्टार्टअप , वोकल फोर लोकल को बढ़ावा देने के लिए भी हमने इस कार्यक्रम में गऊ वंश से जुड़ी संस्थाओं को आमंत्रित किया है ।
12 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक चलने वाले इस ‘गऊ ग्राम महोत्सव – द फेस्टिवल ऑफ काऊ’ में  काऊ बेस इकोनॉमी , अर्थव्यवस्था को खड़ा करने के लिए भारतीय गौवंश से उत्पन्न विभिन्न प्रकार के प्रॉडक्ट (उत्पादों ) की प्रदर्शनी लगाई जा रही है। इस अवसर पर  विविध प्रकार  के गीत- संगीत और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे।
प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: