मेगा फुटबॉल टूर्नामेंट शहीद भगत सिंह फुटबॉल कप का सफल आयोजन

Successful organization of mega football tournament Shaheed Bhagat Singh Football Cup

केजरीवाल सरकार दिल्ली में खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है| इस क्रम में सरकार द्वारा शहीदे-आजम भगत सिंह को समर्पित करते हुए दिल्ली के पहले मेगा फुटबॉल टूर्नामेंट शहीद भगत सिंह फुटबॉल कप का सफल आयोजन करवाया| बुधवार को उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया, त्यागराज स्टेडियम में दिल्ली सरकार के शिक्षा व खेल निदेशालय द्वारा आयोजित किए जा रहे इस फुटबॉल टूर्नामेंट के समापन समारोह में शामिल हुए तथा अंडर 18 आयुवर्ग की विजेता टीम ‘दिल्ली फुटबॉल क्लब’को विजेता ट्राफी व 5 लाख रूपये का चेक प्रदान किया | उल्लेखनीय है कि टूर्नामेंट के समापन में भारत में स्पेन के राजदूत जोस मारिया रिदाओ डोमिंगुएज़, स्पेन की भारत में डिप्टी हेड ऑफ़ मिशन एलिना पेरेज़ विलानुएवा, ओलंपियन व कामनवेल्थ गेम्स में कुश्ती के स्वर्ण पदक विजेता रवि दहिया,  कामनवेल्थ गेम्स में ऊँची कूद के कांस्य पदक विजेता तेजस्विन शंकर सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे|

इस अवसर पर श्री सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में पहली बार दिल्ली के फुटबॉल क्लब्स को एक साथ लाकर इतने बड़े स्तर पर लाकर टूर्नामेंट का आयोजन किया गया है, ऐसे टूर्नामेंट से दिल्ली में फुटबॉल कल्चर को बढ़ावा मिला ही है साथ ही इससे पूरे देश में फुटबॉल को लेकर शानदार संदेश जाएगा|  उन्होंने कहा कि यह टूर्नामेंट दिल्ली मे फुटबॉल की बेहतरीन शुरुआत है,ऐसे शानदार प्रतियोगिताओं के आयोजन से पूरी दिल्ली में फुटबॉल का माहौल बनाने में मदद मिलेगी|

श्री सिसोदिया ने कहा कि “मैं पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने के लिए टीमों को बधाई देता हूं। पिछले एक महीने में, सरकार ने अपने विभिन्न खेल सुविधाओं जैसे त्यागराज स्टेडियम, पूर्वी विनोद नगर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, राजीव गांधी स्टेडियम, बवाना, पीतमपुरा आर्टिफिशियल फुटबॉल टर्फ और सुदेवा फुटबॉल ग्राउंड में फुटबॉल के जुनून को विकसित करने के लिए इस मेगा फुटबॉल कार्यक्रम का आयोजन किया। उन्होंने कहा कि आज स्टेडियम में जो उत्साह है, वह इस बात का सबूत है कि दिल्ली भविष्य में फुटबॉल की अगुआ बनने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि फुटबॉल कप और इस तरह के टूर्नामेंट के साथ केजरीवाल सरकार दुनिया भर के देशों की तरह दिल्ली के स्कूलों और कॉलेजों में एक खेल संस्कृति विकसित कर रही है|

ज्ञात हो कि दिल्ली के विभिन्न शीर्ष क्लबों ने राउंड रॉबिन लीग प्रारूप में प्रतिस्पर्धा में इस मेगा टूर्नामेंट में भाग लिया। लीग को दिल्ली भर के क्लबों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली। टूर्नामेंट को अंडर-18 और अंडर-22 दोनों श्रेणियों में के साथ खेला गया। इन शानदार मैचों में से अंडर-18 वर्ग में दिल्ली फुटबॉल क्लब ने पहला, सुदेवा फुटबॉल क्लब ने दूसरा व गढ़वाल फुटबॉल क्लब ने तीसरा स्थान हासिल किया और अंडर-22 वर्ग में तीसरा स्थान सुदेवा फुटबॉल क्लब ने हासिल किया|

*दिल्ली में फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए केजरीवाल सरकार विकसित कर रही है वर्ल्ड क्लास सुविधाएं

केजरीवाल सरकार ने पिछले कुछ सालों में त्यागराज स्टेडियम, छत्रसाल स्टेडियम, ईस्ट-विनोद नगर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स, पूंठ कलां व बवाना में राजीव गाँधी आदि स्टेडियमों में शानदार सुविधाएं विकसित की है| साथ ही साथ सरकार ने सरकार द्वारा फुटबॉल को बढ़ावा और खिलाडियों को वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं देने के लिए कैर, मुन्डेला व आनंदवास में इंटरनेशनल मानकों के 3 आर्टिफीसियल फुटबॉल ग्राउंड भी विकसित किए गए है|

बता दे कि इस प्रकार के फुटबॉल टूर्नामेंट के माध्यम से दिल्ली सरकार का विज़न दिल्ली के स्कूलों, कॉलेजों में अंतराष्ट्रीय स्तर के लीगों के अनुरूप स्पोर्ट्स कल्चर डेवलप करना है| जहां दिल्ली भर के शीर्ष क्लब भाग ले सकते हैं। खेल के प्रति अपनी प्राथमिकता दिखाते हुए केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के विभिन्न स्टेडियमों जैसे छत्रसाल स्टेडियम, त्यागराज स्टेडियम, पूर्वी विनोद नगर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, पूठकलां स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, राजीव गांधी स्टेडियम, बवाना सहित  कई अन्य में स्थानों पर खेल संबंधित बुनियादी सुविधाओं को बेहतर करने का काम किया है|

*टूर्नामेंट की विशेषताएं
– यह टूर्नामेंट 2 महीने तक चला जिसमें 20 टीमों के बीच 98 मैच का आयोजन किया गया|
– टूर्नामेंट में अंडर 18 और अंडर 22 आयुवर्ग के खिलाडियों ने भाग लिया|
– टूर्नामेंट की विजेता टीम को 5 लाख रुपये की पुरस्कार राशि दी गई तथा उपविजेता टीम व  तीसरे स्थान पर रहने वाली टीम को क्रमशः 2.5 लाख रुपये और 1 लाख रुपये की राशि दी गई|
– सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी को ‘गोल्डन बूट अवार्ड’ तथा  लाख रूपये की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया गया|
-इस टूर्नामेंट का आयोजन दिल्ली के 5 अलग-अलग स्टेडियमों में किया गया, साथ ही  मैचों का सीधा प्रसारण भी किया गया|
-इस फुटबॉल कप में सुवेधा दिल्ली फुटबॉल क्लब टेक्निकल पार्टनर की भूमिका निभाई|

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: