निगम का देय फंड जारी करने की मांग

नई दिल्ली। उत्तरी दिल्ली के महापौर अवतार सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल को एक पत्र लिखा कर कर्मचारियों को वेतन देने के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम का देय फंड जारी करने की मांग की। उन्होंने कहा कि हम सभी इस तथ्य से अवगत हैं कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम दिल्ली का सबसे बड़ी नागरिक निकाय है जिसमें छ: क्षेत्र, छ: प्रमुख अस्पताल है, जो शहर के लगभग 70 लाख लोगों सेवाएं दे रही है। महापौर ने कहा कि विभिन्न माध्यमों से यह कहा गया है कि निगम जबरदस्त वित्तीय संकट से गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि निगम स्वच्छता और स्वास्थ्य सेवाओं सहित कई अन्य सेवाएं प्रदान करती हैं और यह शहर को यथासंभव स्वच्छ और स्वस्थ रखने में कोई कसर नहीं छोड़ती है। उन्होंने कहा कि विशेष रूप से चिकित्सा और स्वच्छता क्षेत्रों में कर्यरत कर्मचारी दिन-रात कोरोनोवायरस जैसी महामारी की रोकथाम में लगे हुए हैं। उत्तरी दिल्ली नगर निगम कोविड -19 की रोकथाम हेतु कुछ विशेष व्यवस्थाएं कर रही है। महापौर ने कहा कि यह बहुत ही चिंता का विषय है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ जो कोरोनवायरस वायरस की रोकथाम में लगे हुए है उन्हें पिछले दो महीनों से वेतन का भुगतान नहीं किया गया हैय यहां तक कि सफाई कर्मचारियों को भी को मार्च 2020 महीने का वेतन नहीं मिला है। निगम के ये सभी कर्मचारी वे अपने जीवन को जोखिम में डाल कर अपने कर्तव्यों को पूरा करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि आज के अखबारों में यह कहा गया है कि दिल्ली सरकार ने निगम को सभी बकाया का भुगतान कर दिए है और भाजपा गंदी राजनीति कर रही है। दिल्ली सरकार द्वारा लगाए गए आरोप पूरी तरह से अनुचित और निराधार, इनमें कोई सच्चाई नहीं हैं। तथ्य यह है कि निगम ने दिल्ली सरकार से मौजूदा वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही के लिए अनुदान जारी करने का अनुरोध किया है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा लिखित पत्र के तहत विभिन्न क्षेत्रों में अनुदान जारी करने के लिए अनुरोध किया गया था, इसके अलावा, उत्तरी दिल्ली नगर निगम के उच्च अधिकारी ने शहरी विकास मंत्री सहित विभिन्न विभागों के साथ व्यक्तिगत रूप से स्थिती के बारे में अवगत करवा रहे है और प्राथमिकता के आधार पर धन जारी करने का अनुरोध कर रहे है, लेकिन आज तक इस वित्तीय वर्ष में दिल्ली सरकार द्वारा एक भी पैसा जारी नहीं किया गया है। महापौर ने कहा कि वेतन का भुगतान नहीं होने के कारण निगम कर्मियों में असंतोष बढ़ रहा है और जब दिल्ली में कोरोनावायरस अपने पैर पसार रहा हो उस स्थिती में स्वास्थ्य और स्वच्छता कर्मचारियों को मनोबल कम हो ऐसा नहीं होना चाहिए। महापौर ने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम की वित्तीय स्थिति काफी गंभीर है, और समय पर वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए सहायता अनुदान की पहली किस्त तुरंत जारी करने की आवश्यक है। उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए उक्त सहायता राशि को तत्काल जारी करने से उत्तरी दिल्ली नगर निगम कम से कम एक-दो महीने तक कर्मचारियों को वेतन दे सकेगी और तब तक निगम की स्थिति में कुछ सुधार की उम्मीद हैं। अत: आप से अनुरोध है उपर्युक्त सहायता अनुदान की पहली किस्त को तत्काल जारी करने का आदेश दे ताकि निगम अपने कर्मचारियों को वेतन दे सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.