बेनकाब हुआ पाक, न्यूक्लियर स्मग्लिंग के आरोप में फिर पकड़ा गया

पाकिस्तान के ऊपर न्यूक्लियर स्मग्लिंग और अवैध तरीके से मिसाइल टेक्नॉलोजी को हासिल का आरोप कोई नया नहीं है। बिना किसी विज्ञान और तकनीक के आधार के चोरी और छलपूर्वक वह परमाणु शक्ति संपन्न देश बना और बैलिस्टिक मिसाइल पावर हासिल की। एक बार फिर से पाकिस्तान पर न्यूक्लियर स्मग्लिंग के आरोप लगे हैं। अमेरिका में पांच पाकिस्तानी पकड़े गए हैं, जिनके रावलपिंडी के ‘बिजनेस वर्ल्ड’ से संबंध है और उसके ऊपर पाकिस्तान के न्यूक्लियर एंड मिसाइल प्रोग्राम के लिए अमेरिकन टेक्नॉलोजी के स्मग्लिंग का आरोप है। पकड़े गए इन लोगों के नाम हैं पाकिस्तान के 41 वर्षीय मोहम्मद कामरान वली (कामरान), कनाडा के ओंटारियो के रहनेवाले 48 वर्षीय मोहम्मद एहसान वली (एहसान), 82 वर्षीय हाजी वली मोहम्मद शेख (हाजी), हांगकांग के रहनेवाले अशरफ खान मोहम्मद (खान) और यूनाइटेड स्टेट्स इलफोर्ड एस्सेक्स के रहनेवाले 52 अहमद वहीद (वहीद)। इन सभी के ऊपर इंटरनेशल इमरजेंसी इकॉनोमिक पावर्स एक्ट और एक्सपोर्ट कंट्रोल रिफॉर्म एक्ट के उल्लंघन करने की साजिश का आरोप लगाया है। यूएस असिस्टेंट अटॉर्नी जनरल ऑर नेशनल सिक्योरिटी जॉन सी. डेमर्स ने एक बयान में कहा- “आरोपी वर्षों से उन्हें अमेरिकी चीजों की स्मग्लिंग कर रहा है, जिसका सीधा संबंध पाकिस्तान के हथियार कार्यक्रम से है जो अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है।” इसमें आगे कहा गया है कि यह जाहिर करता है कि अमेरिकी व्यावसायी को इस तरह के कपटपूर्ण व्यवहार पर नजर रखने की आवश्यकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.