लैंक्सेस दूसरी तिमाही स्थिर रहने के बाद सही राह पर बरकरार

कमजोर अर्थव्यवस्था और भूराजनैतिक अनिश्चितताओं के बावजूद स्पेशियल्टी केमिकल्स कंपनी लैंक्सेस ने दूसरी तिमाही में स्थिर राह पर बरकरार है। ईबीआइटीडीए प्री एक्सेप्शनल्स पिछले साल की मजबूत तिमाही के 290 मिलियन के मुकाबले 1.4 प्रतिशत घटकर 286 मिलियन यूरो हो गया।
वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में समूह की बिक्री 1.810 अरब यूरो रही, जो पिछले वर्ष के 1.829 अरब यूरो की तुलना में 1.0 प्रतिशत कम है। शुद्ध आय 97  मिलियन यूरो से 3.1 प्रतिशत बढ़कर 100 मिलियन यूरो हो गई। प्रति शेयर आय में ज्यादा मजबूत ढंग से – 8.6 प्रतिशत तक बढ़ोतरी हुई और शेष शेयरों की कम औसत संख्या के चलते यह 1.05 यूरो से 1.14 यूरो पहुंच गया। 12 जून, 2019  तक, लैंक्‍सेस ने 200 मिलियन यूरो के वॉल्‍यूम के साथ शेयर बाय-बैक पूरा कर लिया है। शेयरों को योजना के अनुसार 9 जुलाई को रद्द किया गया।
ऑटोमोटिव उद्योग से कमजोर मांग रहने के कार, इंजीनियरिंग मैटेरियल्‍स एवं स्‍पेश्‍यलिटी एडिटिवस सेगमेंट के बिक्री वॉल्‍यूम में गिरावट रही। इसके अलावा, क्रोम ओर का व्‍यावसाय कमजोर होने के कारण अर्निंग्‍स पर भी दबाव रहा। हालांकि, कंपनी के स्थिर पोर्टफोलियो और लाभकारी विनिमय दर के प्रभावों, खासतौर से मजबूत अमेरिकी डॉलर से यह सब कमजोरियां लगभग पीछे छूट गईं। पिछले साल के 15.9 प्रतिशत की तुलना में ईबीआइटीडीए  मार्जिन प्री एक्सेप्शनल्स 15.8 प्रतिशत पर रहा।
लैंक्सेस एजी के प्रबंधन मंडल के चेयरमैन मैथियाज ज़ैशर्ट कहते हैं, “आर्थिक रूप से इस अनिश्चितत समय में हमारा रणनीतिक बदलाव और अधिक स्थिर स्थिति अब अच्‍छे परिणाम दे रहे हैं। हमने दूसरी तिमाही में फिर से अच्‍छे परिणाम दिए हैं और पूर्ण वर्ष के लिए हमारे गाइडैंस की पुष्टि की है।” संपूर्ण वर्ष 2019 के लिए, स्‍पेश्‍यलिटी केमिकल्‍स कंपनी को उम्मीद है कि ईबीआइटीडीए प्री एक्सेप्शनल्स 1.000 अरब यूरो से 1.050 यूरो के बीच रहेगा। पिछले साल लैंक्सेस ने 1.016 अरब यूरो की आय अर्जित की थी। कंपनी को उम्‍मीद है कि तीसरी तिमाही में अर्निंग्‍स थोड़ी कमजोर रहेगी और पिछली तिमाही की तुलना में चौथी तिमाही में इसमें सुधार आएगा।
अधिक संतुलित पोर्टफोलियो स्थिरता सुनिश्चित करता है
कृषि बाजार में मांग में जारी कमजोरी के बावजूद, एडवांस्ड इंटरमीडिएट्स सैगमेंट ने 2019 की दूसरी तिमाही में अपनी परिचालनगत मजबूती साबित की है। ऐसा एडवांस्ड इंडस्ट्रियल इंटरमीडिएट्स बिजनेस यूनिट के मौजूदा सकारात्‍मक विकास और साल्टिगो में अच्‍छे प्रोजेक्‍ट बिजनेस के कारण हुआ।  इसी तरह विनिमय दरों के विकास ने भी सकारात्‍मक असर छोड़ा। बिक्री पिछले साल के 546 मिलियन यूरो की तुलना में 2.7 प्रतिशत बढ़कर 561 मिलियन यूरो पहुंच गई। ईबीआइटीडीए प्री एक्सेप्शनल्स में 10.3 प्रतिशत की अहम बढ़ोतरी हुई है और यह यूरो 97 मिलियन यूरो से बढ़कर 107 मिलियन यूरो तक पहुंच गया है। ईबीआइटीडीए मार्जिन प्री एक्सेप्शनल्स 17.1 प्रतिशत से बढ़कर 19.1 प्रतिशत हो गया।
स्पेशियल्टी एडिटिव्स सैगमेंट में 2019 की दूसरी तिमाही में साल दर साल स्थिर विकास देखा गया। मार्जिन-डायइल्‍यूटिव टोल मैन्‍युफैक्‍चरिंगकॉन्‍ट्रैक्‍ट का टर्मिनेशन और आटोमोटिव उद्योग में कमजोर मांग, खासकर रीन केमी बिजनेस यूनिट में, ने बिक्री के कम वॉल्‍यूम को बढ़ावा दिया। बिक्री 508 मिलियन यूरो से घटकर 506  मिलियन यूरो हो गई। सकारात्मक मूल्य और लाभप्रद विनिमय-दर प्रभाव ने बिक्री में गिरावट की भरपाई की। ईबीआइटीडीए प्री एक्सेप्शनल्स 2.2 प्रतिशत की गिरावट के साथ पिछले साल की समान तिमाही के 91 मिलियन यूरो से 89 मिलियन यूरो पर आगया। 17.6 प्रतिशत का ईबीआइटीडीए मार्जिन प्री एक्सेप्शनल्स पिछले वर्ष के आंकड़े 17.9 प्रतिशत के स्‍तर के बराबर रहा। परफॉर्मेंस केमिकल्स सैगमेंट में संतुलित पोर्टफोलियो ने स्थिरता को सुनिश्चित किया। इसका कारण जल उपचार और मटेरियल प्रोटेक्शन उत्पादों वाली व्यावसायिक इकाइयों की परिचालन ताकत के साथ ही विनिमय-दर के सकारात्मक प्रभाव रहे, जिन्होंने लैदर बिजनेस यूनिट में कमजोर क्रोम अयस्क व्यवसाय की भरपाई की। 2019 की दूसरी तिमाही में बिक्री 356 मिलियन यूरो के स्‍तर पर स्थित रही। पिछले वर्ष की तिमाही के 58 मिलियन यूरो से 3.4 प्रतिशत बढ़कर ईबीआइटीडीए प्री एक्सेप्शनल्स 60 मिलियन यूरो हो गया। लेदर को छोड़कर सेगमेंट की सभी बिजनेस यूनिट ने अर्निंगस में सुधार करने में योगदान किया।16.9 प्रतिशत का ईबीआइटीडीए मार्जिन प्री एक्सेप्शनल्स पिछले वर्ष के 16.3 प्रतिशत के आंकड़े से थोड़ा ज्यादा ही रहा।
मोटर वाहन उद्योग में कमजोर मांग के चलते इंजीनियरिंग मटेरियल सैगमेंट की बिक्री और कमाई पर बोझ पड़ा। कीमतों और विनिमय दरों का लाभप्रद विकास इसकी क्षतिपूर्ति नहीं कर सका। 2019 की दूसरी तिमाही में बिक्री 399 मिलियन यूरो से 8.5% गिरकर 365 मिलियन यूरो रह गई। ईबीआइटीडीए प्री एक्सेप्शनल्स 65 मिलियन यूरो रहा, जो कि पिछले साल के 81 मिलियन यूरो के आंकड़े से 19.8प्रतिशत नीचे है। ईबीआइटीडीए मार्जिन 20.3 प्रतिशत से घटकर 17.8 प्रतिशत हो गया और इस तरह एक अच्‍छे स्‍तर पर बना रहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.