सोनी सब के ‘मैडम सर’ में युवा टैलेंटेड सिंगर के रूप में मायरा सिंह की एंट्री

‘पुलिसिंग विथ हार्ट’ के कॉन्‍सेप्ट पर जोर देने वाला, सोनी सब का ‘मैडम सर’ लगातार अपने दर्शकों का मनोरंजन कर रहा है। इस शो में चार महिला पुलिस अधिकारी हर केस को अपने अनोखे तरीकों से हल करती हैं। हाल ही में इस शो ने एक बहुत ही दिलचस्प मोड़ लिया क्योंकि करिश्मा (युक्ति कपूर)को हसीना (गुलकी जोशी) के साथ अस्थायी रूप से एसएचओ बनाया गया है और वो दोनों एक दूसरे खिलाफ यह साबित करने की होड़ में लगी हुई हैं कि उन दोनों में से बेहतर एसएचओ कौन है।

जहां एक तरफ हसीना और करिश्मा उनके पुलिसिंग के तरीके को बेहतर साबित करने में लगी हुई हैं, तो वही दूसरी तरफ पुलिस स्टेशन में एक नया मामला आया है। राधा, जिसका किरदार बहुत हीखूबसूरत मायरा सिंह निभा रही हैं, एक प्रतिभाशाली गायिका है और असल में राजस्थान के एक परिवार से ताल्‍लुक रखती है। वह सिंगर बनने के लिए घर से भाग जाती है क्‍योंकि उसके पिता उसके सपनों के खिलाफ हैं। आख़िरकार वह लखनऊ पहुंची और वहां पर एक कपल के साथ रहने लगी जिसे वो अपने माता-पिता होने का दावा करती है और यह कपल पैसों के लिए उसे सड़कों पर गाना गवाते हैं। राधा के परफॉरमेंस के दौरान मिल रही धमकी के बारे में यह जोड़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाती है और करिश्मा से उनकी मदद करने की दरख्वास्त करती है क्योंकि राधा की सड़कों पर परफॉरमेंस ही उनकी एकमात्र आय है।

जहां करिश्मा उनपर विश्वास करके राधा को एक अवसर दिलाने और सिंगिंग प्रतियोगिता में उसे एंट्री दिलाने की कोशिश करती है, तो वहीं हसीना को इस पूरी स्थिति पर शक होता है और वह उसके माता-पिता होने का दावा करने वाले कपल से पूछताछ करती है। हालांकि, मुश्किल में फंसने से बचने के लिए, यह कपल अपने फायदे के लिए हसीना और करिश्मा के बीच के मतभेदों का इस्तेमाल करने की कोशिश करता है।

क्या करिश्मा और हसीना सच्चाई का पता लगाकर राधा के लिए एक बेहतर भविष्‍य सुनिश्चित कर पाएंगी?

राधा की भूमिका निभा रही  मायरा सिंह ने कहा, “राधा एक प्रतिभाशाली सिंगर है जो उसके पिता के उसकी सिंगिंग के खिलाफ होने के कारण घर से भाग जाती है और लखनऊ पहुंच जाती है। जब मुझे  यह भूमिका मिली तो मैं बहुत ही ज़्यादा उत्साहित थी क्योंकि राधा की तरह, असल ज़िंदगी में सिंगिंग मेरा भी जुनून है। इसलिए, मैं इस भूमिका को निभाने के लिए उत्सुक थी क्योंकि मैं इसमें अपना दिल और आत्मा लगा सकती थी। मैडम सर की पूरी टीम के साथ शूटिंग करने में बहुत ही मज़ा आया क्योंकि उन्होंने मुझे सहज होने में मदद की और बहुत ही अच्छी तरह से चीज़ों को समझाया।”

Leave A Reply

Your email address will not be published.