Home खेल पाकिस्तान के महान लेग स्पिनर कादिर का निधन

पाकिस्तान के महान लेग स्पिनर कादिर का निधन

0 second read
0
0
106

लाहौर। लेग स्पिन गेंदबाजी को नयी ऊंचाइयों पर पहुंचाने वाले पाकिस्तान के महान लेग स्पिनर अब्दुल कादिर खान का शुक्रवार को निधन हो गया। वह 63 वर्ष के थे। कादिर का शुमार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिन गेंदबाजों में होता था और वह अपने लहराते हुए अनूठे गेंदबाजी एक्शन के लिए प्रसिद्ध थे। वह ऑस्ट्रेलिया के शेन वार्न और पाकिस्तान के मुश्ताक अहमद जैसे दिग्गज स्पिनरों के मेंटर रहे थे। उनका अपने अगले जन्मदिन से नौ दिन पहले निधन हो गया। कादिर के पुत्र सलमान कादिर ने उनके निधन की पुष्टि की। कादिर का हृदयगति रुकने से निधन हुआ। कादिर के पुत्र ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें सर्विसेज अस्पताल ले जाया गया,किंतु उन्हें बचाया नहीं जा सका। 1980 के दशक में पाकिस्तान की सफल टीमों का अभिन्न हिस्सा रहे कादिर का जन्म 15 सितम्बर 1955 को लाहौर में हुआ था। कादिर ने 13 साल के अपने टेस्ट करियर में 67 टेस्ट मैच खेले और 236 विकेट लिए। इसके अलावा उन्होंने अपने 10 साल के अपने वनडे करियर में 104 मैच खेले और 132 खिलाड़ियों को आउट किया। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 209 मैचों में 960 विकेट और 147 लिस्ट ए मैचों में 202 विकेट लिए थे। कादिर ने 1983 और 1987 के विश्व कप में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया था। कादिर संन्यास के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के मुख्य चयनकर्ता भी रहे थे। उन्होंने इसके अलावा मैचों की कमेंट्री भी की थी। वह लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम के बाहर अपनी निजी अकादमी चलते थे। कादिर अपने विशिष्ट गेंदबाजी के लिए जाने जाते थे। उन्हें डासिंग बालर के रुप में ख्याति प्राप्त थी। उन्होंने पहला क्रिकेट टेस्ट इंग्लैंड के खिलाफ 14 दिसम्बर 1977 को लाहौर में खेला। उन्होंने अपना पहला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 11 जून 1983 को इंग्लैंड के बर्मिंघम में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था जो विश्व कप का मैच था। कादिर ने अंतिम टेस्ट मैच वेस्ट इंडीज के खिलाफ लाहौर में ही छह दिसम्बर 1990 को और एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच शारजाह में श्रीलंका के खिलाफ दो नवंबर 1993 को खेला था। पीसीबी ने दिवंगत खिलाड़ी के परिवार और मित्रों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।

Load More Related Articles
Load More By Open Search
Load More In खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘सिस्थान 2019’ का भव्य आयोजन

2 अक्टूबर महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जी की पुण्य जयंती के अवसर पर एम्स संस्थान क…